Article 250 In Hindi | Article 250 Of Indian Constitution In Hindi | अनुच्छेद 250 क्या है

इस पोस्ट मे आपको Article 250 Of Indian Constitution In Hindi के बारे मे बताया गया है। अगर आप Article 250 In Hindi कि जानकारी चाहते हैंतो इस पोस्ट मे मैने इसकी पूरी जानकारी दी है।

अनुच्छेद हमारे भारत के संविधान मे दिया गया है, जिसके द्वारा ही हमारे भारत देश की रूप रेखा तैयार की गई है। तो इसमे आपको Article 250 के बारे मैने पूरी जानकारी देने का प्रयास किया है, जिससे कि आपको ये अच्छे से याद हो जाए। भारत के हर व्यक्ति को Indian Constitution Articles के बारे मे जानकारी होनी ही चाहिए। क्योंकि यह हमारे देश का एक महत्वपूर्ण भाग है।

Article 250 In Hindi

अनुच्छेद 250 – राज्य सूची में किसी भी मामले के संबंध में कानून बनाने की संसद की शक्ति यदि आपातकाल की उद्घोषणा चल रही है
(1) इस अध्याय में किसी बात के होते हुए भी, संसद को, जब आपातकाल की उद्घोषणा चल रही हो, राज्य सूची में वर्णित किसी भी मामले के संबंध में पूरे भारत के राज्यक्षेत्र या उसके किसी भाग के लिए कानून बनाने की शक्ति होगी। .
(2) संसद द्वारा बनाया गया एक कानून, जिसे संसद ने आपातकाल की उद्घोषणा के मुद्दे के लिए सक्षम नहीं किया है, अक्षमता की सीमा तक, छह महीने की अवधि की समाप्ति पर प्रभावी नहीं होगा। उक्त अवधि की समाप्ति से पहले किए गए या किए जाने के लिए छोड़े गए कार्यों को छोड़कर, उद्घोषणा का संचालन बंद हो गया है।

Indian Constitution part 11 article

Article 250 Of Indian Constitution In English

Article 250 – Power of Parliament to legislate with respect to any matter in the State List if a Proclamation of Emergency is in operation
(1) Notwithstanding anything in this Chapter, Parliament shall, while a Proclamation of Emergency is in operation, have, power to make laws for the whole or any part of the territory of India with respect to any of the matters enumerated in the State List.
(2) A law made by Parliament which Parliament would not but for the issue of a Proclamation of Emergency have been competent to make shall, to the extent of the incompetency, cease to have effect on the expiration of a period of six months after the Proclamation has ceased to operate, except as respects things done or omitted to be done before the expiration of the said period.

नोट- इसमे कही सारी बाते भारतीय संविधान से है। यानी यह संविधान के ही शब्द है।

अनुच्छेद 250 मे क्या है

वाद-विवाद संक्षेप – मसौदा अनुच्छेद 227 (अनुच्छेद 250, भारत का संविधान, 1950) पर 13 जून 1949 को बहस हुई थी। इसने संसद को आपातकाल के दौरान राज्य सूची के विषयों पर कानून बनाने की अनुमति दी थी। इस अनुच्छेद पर कोई ठोस बहस नहीं हुई। मसौदा अनुच्छेद 227 को 13 जून, 1949 को अपनाया गया था।

अन्य महत्वपूर्ण अनुच्छेद

Article 246 In Hindi
Article 247 In Hindi
Article 248 In Hindi
Article 249 In Hindi
Article 240 In Hindi
Article 241 In Hindi
Article 242 In Hindi
Article 243 In Hindi
Article 244 In Hindi
Article 245 In Hindi

Final Words

आपको यह Article 250 In Hindi Of Indian Constitution की जानकारी कैसी लगी नीचे कमेंट करके जरूर बताएं। बाकी Article Of Indian Constitution से संबंधित कोई प्रश्न हो तो आप नीचे कमेंट करके पूछ सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *