Article 299 In Hindi – Article 299 Of Indian Constitution In Hindi

इस पोस्ट मे आपको Article 299 Of Indian Constitution In Hindi के बारे मे बताया गया है। अगर आप Article 299 In Hindi कि जानकारी चाहते हैंतो इस पोस्ट मे मैने इसकी पूरी जानकारी दी है।

अनुच्छेद हमारे भारत के संविधान मे दिया गया है, जिसके द्वारा ही हमारे भारत देश की रूप रेखा तैयार की गई है। तो इसमे आपको Article 299 के बारे मैने पूरी जानकारी देने का प्रयास किया है, जिससे कि आपको ये अच्छे से याद हो जाए। भारत के हर व्यक्ति को Indian Constitution Articles के बारे मे जानकारी होनी ही चाहिए। क्योंकि यह हमारे देश का एक महत्वपूर्ण भाग है।

Article 299 In Hindi

अनुच्छेद 299 – संविदा
(1) संघ या किसी राज्य की कार्यकारी शक्ति के प्रयोग में किए गए सभी अनुबंध राष्ट्रपति या राज्य के राज्यपाल द्वारा, जैसा भी मामला हो, और ऐसे सभी अनुबंधों और सभी उस शक्ति के प्रयोग में किए गए संपत्ति के आश्वासन को राष्ट्रपति या राज्यपाल की ओर से ऐसे व्यक्तियों द्वारा और इस तरह से निष्पादित किया जाएगा जैसा कि वह निर्देशित या अधिकृत कर सकता है।
(2) न तो राष्ट्रपति और न ही राज्यपाल इस संविधान के प्रयोजनों के लिए किए गए या निष्पादित किसी भी अनुबंध या आश्वासन के संबंध में, या भारत सरकार से संबंधित किसी भी अधिनियम के प्रयोजनों के लिए व्यक्तिगत रूप से उत्तरदायी होंगे, और न ही कोई उनमें से किसी की ओर से ऐसा कोई अनुबंध या आश्वासन देने या निष्पादित करने वाला व्यक्ति उसके संबंध में व्यक्तिगत रूप से उत्तरदायी होगा।

indian constitution part 12 articles

Article 299 Of Indian Constitution In English

Article 299 – Contracts
(1) All contracts made in the exercise of the executive power of the Union or of a State shall be expressed to be made by the President, or by the Governor of the State, as the case may be, and all such contracts and all assurances of property made in the exercise of that power shall be executed on behalf of the President or the Governor by such persons and in such manner as he may direct or authorise.
(2) Neither the President nor the Governor shall be personally liable in respect of any contract or assurance made or executed for the purposes of this Constitution, or for the purposes of any enactment relating to the Government of India heretofore in force, nor shall any person making or executing any such contract or assurance on behalf of any of them be personally liable in respect thereof.

नोट – इसमे कही सारी बाते भारतीय संविधान से है। यानी यह संविधान के ही शब्द है।

अनुच्छेद 299 मे क्या है

वाद-विवाद संक्षेप – एक सदस्य चिंतित था कि संसद इन अनुबंधों को अंतिम रूप देने में शामिल नहीं थी और प्रस्ताव दिया कि इन अनुबंधों को संसद द्वारा अनुमोदित किया जाए। अन्य सदस्यों ने यह सुझाव देते हुए उत्तर दिया कि यह आवश्यक नहीं था क्योंकि अनुबंधों को संसद द्वारा बनाए गए कानूनों का पालन करना होगा। सभा ने इस मसौदे के अनुच्छेद 273 को 15 जून 1949 को अंगीकार किया।

अन्य महत्वपूर्ण अनुच्छेद

Article 296 In Hindi
Article 297 In Hindi
Article 298 In Hindi
Article 289 In Hindi
Article 290 In Hindi
Article 291 In Hindi
Article 292 In Hindi
Article 293 In Hindi
Article 294 In Hindi
Article 295 In Hindi

Final Words

आपको यह Article 299 In Hindi Of Indian Constitution की जानकारी कैसी लगी नीचे कमेंट करके जरूर बताएं। बाकी Article Of Indian Constitution से संबंधित कोई प्रश्न हो तो आप नीचे कमेंट करके पूछ सकते है।

Leave a Comment