Article 312 In Hindi – Article 312 Of Indian Constitution In Hindi

इस पोस्ट मे आपको Article 312 Of Indian Constitution In Hindi के बारे मे बताया गया है। अगर आप Article 312 In Hindi कि जानकारी चाहते हैंतो इस पोस्ट मे मैने इसकी पूरी जानकारी दी है।

अनुच्छेद हमारे भारत के संविधान मे दिया गया है, जिसके द्वारा ही हमारे भारत देश की रूप रेखा तैयार की गई है। तो इसमे आपको Article 312 के बारे मैने पूरी जानकारी देने का प्रयास किया है, जिससे कि आपको ये अच्छे से याद हो जाए। भारत के हर व्यक्ति को Indian Constitution Articles के बारे मे जानकारी होनी ही चाहिए। क्योंकि यह हमारे देश का एक महत्वपूर्ण भाग है।

Article 312 In Hindi

अनुच्छेद 312 – अखिल भारतीय सेवाएं
(1) भाग VI या भाग XI के अध्याय VI में किसी भी बात के होते हुए भी, यदि राज्य परिषद ने उपस्थित और मतदान करने वाले सदस्यों के कम से कम दो तिहाई द्वारा समर्थित संकल्प द्वारा घोषित किया है कि ऐसा करना राष्ट्रीय हित में आवश्यक या समीचीन है , संसद कानून द्वारा संघ और राज्यों के लिए एक या अधिक अखिल भारतीय सेवाओं (एक अखिल भारतीय न्यायिक सेवा सहित) के निर्माण के लिए प्रदान कर सकती है, और, इस अध्याय के अन्य प्रावधानों के अधीन, भर्ती और शर्तों को विनियमित कर सकती है। ऐसी किसी भी सेवा के लिए नियुक्त व्यक्तियों की सेवा का।
(2) इस संविधान के प्रारंभ में भारतीय प्रशासनिक सेवा और भारतीय पुलिस सेवा के रूप में जानी जाने वाली सेवाओं को इस अनुच्छेद के तहत संसद द्वारा बनाई गई सेवाओं के रूप में समझा जाएगा।
(3) खंड (1) में निर्दिष्ट अखिल भारतीय न्यायिक सेवा में अनुच्छेद 236 में परिभाषित जिला न्यायाधीश के पद से अवर कोई पद शामिल नहीं होगा।

(4) पूर्वोक्त अखिल भारतीय न्यायिक सेवा के निर्माण के लिए प्रदान करने वाले कानून में भाग VI के अध्याय VI के संशोधन के लिए ऐसे प्रावधान शामिल हो सकते हैं जो उस कानून के प्रावधानों को प्रभावी बनाने के लिए आवश्यक हो और ऐसा कोई कानून नहीं माना जाएगा अनुच्छेद 368 के प्रयोजनों के लिए इस संविधान का संशोधन हो।

Indian Constitution part 14 articles

Article 312 Of Indian Constitution In English

Article 312 – All India Services
(1) Notwithstanding anything in Chapter VI of Part VI or Part XI, if the Council of States has declared by resolution supported by not less than two thirds of the members present and voting that it is necessary or expedient in the national interest so to do, Parliament may by law provide for the creation of one or more all India services (including an all India judicial service) common to the Union and the States, and, subject to the other provisions of this Chapter, regulate the recruitment, and the conditions of service of persons appointed, to any such service.
(2) The services known at the commencement of this Constitution as the Indian Administrative Service and the Indian Police Service shall be deemed to be services created by Parliament under this article.

(3) The all India judicial service referred to in clause ( 1 ) shall not include any post inferior to that of a district judge as defined in article 236.
(4) The law providing for the creation of the all India judicial service aforesaid may contain such provisions for the amendment of Chapter VI of Part VI as may be necessary for giving effect to the provisions of that law and no such law shall be deemed to be an amendment of this Constitution for the purposes of article 368.

नोट – इसमे कही सारी बाते भारतीय संविधान से है। यानी यह संविधान के ही शब्द है।

अनुच्छेद 312 मे क्या है

वाद-विवाद संक्षेप – कुछ सदस्यों ने मसौदा अनुच्छेद की भाषा को बदलने के लिए संशोधन पेश किए जिससे मसौदा अनुच्छेद के सार में कोई बदलाव नहीं आया। हालांकि, विधानसभा ने सभी संशोधनों को खारिज कर दिया। मसौदा अनुच्छेद उसी दिन अपनाया गया था। 1976 में 42वें संशोधन द्वारा अनुच्छेद 312 में परिवर्धन किया गया।

अन्य महत्वपूर्ण अनुच्छेद

Article 306 In Hindi
Article 307 In Hindi
Article 308 In Hindi
Article 309 In Hindi
Article 310 In Hindi
Article 311 In Hindi
Article 302 In Hindi
Article 303 In Hindi
Article 304 In Hindi
Article 305 In Hindi

Final Words

आपको यह Article 312 In Hindi Of Indian Constitution की जानकारी कैसी लगी नीचे कमेंट करके जरूर बताएं। बाकी Article Of Indian Constitution से संबंधित कोई प्रश्न हो तो आप नीचे कमेंट करके पूछ सकते है।

Leave a Comment