Article 349 In Hindi – Article 349 Of Indian Constitution In Hindi

इस पोस्ट मे आपको Article 349 Of Indian Constitution In Hindi के बारे मे बताया गया है। अगर आप Article 349 In Hindi कि जानकारी चाहते हैंतो इस पोस्ट मे मैने इसकी पूरी जानकारी दी है।

अनुच्छेद हमारे भारत के संविधान मे दिया गया है, जिसके द्वारा ही हमारे भारत देश की रूप रेखा तैयार की गई है। तो इसमे आपको Article 349 के बारे मैने पूरी जानकारी देने का प्रयास किया है, जिससे कि आपको ये अच्छे से याद हो जाए। भारत के हर व्यक्ति को Indian Constitution Articles के बारे मे जानकारी होनी ही चाहिए। क्योंकि यह हमारे देश का एक महत्वपूर्ण भाग है।

Article 349 In Hindi

अनुच्छेद 349 – भाषा से संबंधित कुछ कानूनों को अधिनियमित करने के लिए विशेष प्रक्रिया।
इस संविधान के प्रारंभ से पंद्रह वर्ष की अवधि के दौरान, अनुच्छेद 348 के खंड (1) में उल्लिखित किसी भी उद्देश्य के लिए भाषा के प्रयोग के लिए प्रावधान करने वाला कोई भी विधेयक या संशोधन संसद के किसी भी सदन में पेश या पेश नहीं किया जाएगा। राष्ट्रपति की पूर्व मंजूरी, और राष्ट्रपति ऐसे किसी भी विधेयक को पेश करने या ऐसे किसी भी संशोधन को पेश करने के लिए अपनी मंजूरी नहीं देंगे, जब तक कि उन्होंने अनुच्छेद 344 के खंड (1) के तहत गठित आयोग की सिफारिशों पर विचार नहीं किया हो। और उस अनुच्छेद के खंड (4) के तहत गठित समिति की रिपोर्ट अध्याय IV विशेष निर्देश।

Indian Constitution part 17 articles

Article 349 Of Indian Constitution In English

Article 349 – Special procedure for enactment of certain laws relating to language.
During the period of fifteen years from the commencement of this Constitution, no Bill or amendment making provision for the language to be used for any of the purposes mentioned in clause ( 1 ) of Article 348 shall be introduced or moved in either House of Parliament without the previous sanction of the President, and the President shall not give his sanction to the introduction of any such Bill or the moving of any such amendment except after he has taken into consideration the recommendations of the Commission constituted under clause ( 1 ) of Article 344 and the report of the Committee constituted under clause ( 4 ) of that article CHAPTER IV SPECIAL DIRECTIVES.

नोट – इसमे कही सारी बाते भारतीय संविधान से है। यानी यह संविधान के ही शब्द है।

अनुच्छेद 349 मे क्या है

वाद-विवाद संक्षेप – मसौदा अनुच्छेद में कहा गया है कि संविधान के प्रारंभ से 15 वर्षों तक, संसद एक विधेयक पारित नहीं कर सकती है जिसके लिए अदालत और संसदीय दस्तावेजों में एक विशिष्ट भाषा के उपयोग की आवश्यकता होती है। वह ऐसा तभी कर सकता है जब राष्ट्रपति भाषा समिति की रिपोर्ट पर विचार करे और ऐसे विधेयक के लिए अपनी स्वीकृति प्रदान करे। मसौदा अनुच्छेद में कोई चर्चा या संशोधन नहीं हुआ और इसे 14 सितंबर, 1949 को संविधान में जोड़ा गया।

अन्य महत्वपूर्ण अनुच्छेद

Article 346 In Hindi
Article 347 In Hindi
Article 348 In Hindi
Article 339 In Hindi
Article 340 In Hindi
Article 341 In Hindi
Article 342 In Hindi
Article 343 In Hindi
Article 344 In Hindi
Article 345 In Hindi

Final Words

आपको यह Article 349 In Hindi Of Indian Constitution की जानकारी कैसी लगी नीचे कमेंट करके जरूर बताएं। बाकी Article Of Indian Constitution से संबंधित कोई प्रश्न हो तो आप नीचे कमेंट करके पूछ सकते है।

Leave a Comment